दहलीजें



Picture By Arushi Rawat



बड़े मायने है इन दहलीजों के ,

कभी कभी लाँघनी भी पड़ती है !

कभी रहना पड़ता है अपनी हदों में ,

लेकिन अवसर बहुत है उस पार ! 

                           

कभी लक्ष्मण रेखा सी रोकती ये दहलीजें ,

ठहरे रहना भी कैसी ज़िंदगी ,

कभी तो बढ़ानी होगी क़दमों की रफ़्तार,

कभी तो तोड़ोगे ये रक्षा-कवच !


जंग लड़ो ,बेशक ख़ुद से ही क्यू्ँ ना हो ,

कुछ तो तय करो , मत सुनो दहलीजों की ,

आज कोई छोटी दहलीज़ लँघोगे ,

तो कल शायद नसीब हो कोई बड़ा मुक़ाम ! 

             

कभी तो तोड़ना पड़ेगा सबका भ्रम ,

मत सुनो किसी बाधा की !

बड़े मायने है इन दहलीजों के ,

पर मौक़े बेहद है उस पार !  


  • Facebook
  • Instagram
  • LinkedIn
  • Spotify

Feel like talking? Email us: hellobaatein@gmail.com or visit our Contact Us Page

© 2019 by Baatein